Alfred Nobel

Alfred Nobel biography in hindi


अल्फ्रेड नोबेल की जीवनी

परिचय (introduction)

श्रेष्ठतम वैज्ञानिक, रसायनज्ञ  महानतम शिक्षाविद अल्फ्रेड नोबेल अपने विश्व प्रसिद्ध खोज डायनामाइट के लिए जाने जाते है।

अल्फ्रेड नोबेल के नाम पर ही विश्व विख्यात नोबेल पुरस्कार दिया जाता है, डायनामाइट के आविष्कार के कारण इन्हें” मौत का सौदागर”तथा “मौत का व्यापारी”(merchant of death) भी कहा गया लेकिन अल्फ्रेड नोबेल का अविष्कार मानवता के उत्तम विकास के लिए था न की विनाश के लिए। अल्फ्रेड नोबेल का पूरा नाम “अल्फ्रेड बर्नार्ड नोबेल” था | अल्फ्रेड नोबेल की विशेष रुचि रसायन विज्ञान में थी |

जीवन(Life)

  • अल्फ्रेड नोबेल का जन्म स्वीडन के स्टॉकहोम में हुआ था, अल्फ्रेड बचपन से उत्सुक प्रवृति के थे  अल्फ्रेड की रसायन में महती रुचि थी अल्फ्रेड के पिता इमैनुएल स्वीडन में पत्थर तोड़कर पुल बनाने का कार्य  करते थे लेकिन कुछ वजहों से उनके रोज़गार में  में कमी आने लगी और  काम मंदा चलने लगा 
  • 1842 में इमैनुएल सपरिवार रूस के पिटार्सबर्ग शहर में आ गए, यहां इमैनुएल ने रूसी सेना के लिए गन पाउडर बनाना प्रारंभ किया,  क्रिमियन (crimean war) युद्ध के समय उनके गन पाउडर का व्यापार काफी तेज़ी से चलने लगा उनका  ये कार्य सफलता पूर्वक चलने लगा, परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक होने लगी तभी, अल्फ्रेड को”1850″में उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए अमेरिका भेजा गया,वहा से वो शिक्षा ग्रहण करके पेरिस चले गए, वहा उनकी मुलाकात नाइट्रोग्लिसरीन (nitroglycerin) के खोजकर्ता अस्कानियो से हुई।
  • इधर रूस में क्रीमियन युद्ध समाप्त हो जाने के कारण इमैनुएल का काम बंद हो गया और उन्हें वापस स्वीडन जाना पड़ा, अल्फ्रेड भी सपरिवार स्वीडन चले गए, वहा अल्फ्रेड ने नाइट्रोग्लिसरीन पर  शोध प्रारंभ किया इस शोध में अल्फ्रेड के पिता और भाई भी लगे थे, एक दिन शोध कार्यशाला में अचानक नाइट्रोग्लिसरिन ब्लास्ट हो गया था, इस विस्फोट में अल्फ्रेड के भाई की मृत्यु हो गई, इस घटना से अल्फ्रेड के पिता इमैनुएल को गहरा आघात लगा उन्होंने शोध करना बंद कर दिया, लेकिन अल्फ्रेडने कुछ समय बाद “नाइट्रोग्लिसरिन तथा सिलिका”(nitroglycerin and silica)के रासायनिक संयोजन से ” डायनामाइट ” (dynamite ) कि अप्रत्याशित खोज कर दी।। डायनामाइट के खोज ने मानवता के उत्तम विकास में महती भूमिका अदा की, अब बड़े बड़े पहाड़ों को डायनामाइट विस्फोट के द्वारा आसानी से तोड़ा जा सकता था, डायनामाइट के आविष्कार ने विश्व में अतुलनीय   परिवर्तन ला दिए।। परंतु एक ओर जहां डायनामाइट ने सकारात्मक परिवर्तन लाएं ,वही मानवता के विनाशक, संहारक प्रवृति के लोगो ने इसका प्रयोग मानवता के विनाश में करना आरंभ कर दिया।
  • डायनामाइट के आविष्कार के कारण अल्फ्रेड नोबेल को काफी आलोचन का भी सामना करना पड़ा लोग उन्हें डायनामाइट के विध्वंसक प्रयोग के लिए उनके आविष्कार को दोषी ठहराने लगे, इससे अल्फ्रेड नोबेल को काफी दुख और ग्लानि का अनुभव होने लगा। वो चाहते थे की उनका नाम मानवता के पोषक के रूप में याद रखा जाय न की संहारक के रूप में, इसी लिए उन्होंने अपनी सारी संपत्ति मानवता के क्षेत्र में कार्य करने वालो के लिए समर्पित कर दिया , अल्फ्रेड नोबेल ने एक न्यास (trust) नोबेल फाउंडेशन ट्रस्ट की स्थापन की था, मानवता के विकास में योगदान देने वाले बुद्धिजीवी व्यक्तियों के लिए नोबेल पुरस्कार का सृजन किया।

योगदान/उपलब्धियां(achievement)

अल्फ्रेड नोबेल की सबसे बड़ी उपलब्धि उनके द्वारा आविष्कार की गई डायनामाइट है., डायनामाइट के आविष्कार ने विश्व में एक नए युग का आरंभ किया,

अल्फ्रेड नोबेल के सम्मान में विश्व विख्यात नोबेल पुरस्कार प्रदान किया जाता है, अल्फ्रेड नोबेल ने अपनी संपत्ति को सम्पूर्ण मानवता के कल्याण के लिए लगा दिया, नोबेल पुरस्कार विभिन्न क्षेत्रों में अतुलनीय शोध और मानवता के सम्पूर्ण विकास में किए गए कार्य के लिए “10दिसंबर “को  अल्फ्रेड नोबेल की पुण्य तिथि पर दिया जाता है

नोबेल पुरस्कार निम्न श्रेणियों में दिया जाता है….

1.शांति का नोबेल

2. साहित्य का नोबेल

3. अर्थशास्त्र का नोबेल

4.भौतिकी का नोबेल

5.रसायन का नोबेल

6. चिकित्सा का नोबेल

*** भारत के जिन महानविभूतियो को नोबेल पुरस्कार प्रदान किया गया है वो निम्न है

1.रविन्द्र नाथ टैगोर… 1913में (साहित्य)

2.सी. वी. रमन….1930(भौतिकी)

3.हरगोविंद खुराना…1968(चिकित्सा)

4.मदर टेरेसा…1979(शांति)

5.एस. चंद्रशेखर 1983(भौतिकी)

6.अमर्त्य सेन 1998(अर्थशास्त्र)

7.वी रामाकृष्णन 2009(रसायन)

.8 कैलाश सत्यार्थी 2014(शांति)

निष्कर्ष(conclusion)

अल्फ्रेड नोबेल ने मानवता के पोषक के रूप में कार्य किया उनका आविष्कार सृष्टि में रचनात्मक परिवर्तन लाने के लिए हुआ था,  अल्फ्रेड नोबेल ने मानव जीवन को सुचारू ढंग से  संचालित करने एवम सम्पूर्ण विकास के लक्ष्य प्राप्ति के लिए आविष्कार किया, उनको योगदान मानवता के सृजन के लिए अतुलनीय, अविस्मणीय है, अल्फ्रेड नोबेल के जीवन का सबसे अर्थपूर्ण कार्य नोबेल पुरस्कार का गठन है उन्होंने अपने जीवन तथा अपने द्वारा अर्जित संपत्ति को सम्पूर्ण विश्व के बहुमुखी विकास , प्रगति और उत्थान में न्यौछावर कर दिया, वो विश्व के इतिहास में सर्वथा के लिए संस्मणीय रहेंगे।

धन्यवाद

हमारे द्वारा दिया गया विवरण आप को कैसा लगा अपना बहुमूल्य विचार, सुझाव अवश्य प्रकट करे।

आपका सुझाव हमारे लिए बहुमूल्य है

हमारा उद्देश्य “आपका अधिकतम सहयोग  है”

2,380 thoughts on “Alfred Nobel

  1. Howdy! This is kind of off topic but I need some guidance from an established blog.
    Is it difficult to set up your own blog? I’m not very techincal but I can figure
    things out pretty fast. I’m thinking about creating my own but I’m not sure where to begin. Do you have any tips or suggestions?
    With thanks

  2. What i don’t understood is in truth how you’re no
    longer actually much more neatly-appreciated than you might be right now.

    You’re very intelligent. You recognize thus significantly relating to this matter, produced me
    in my view consider it from so many varied angles.
    Its like women and men don’t seem to be involved
    unless it’s one thing to do with Woman gaga! Your individual stuffs great.
    Always deal with it up!

  3. Interesting blog! Is your theme custom made or did you download it from
    somewhere? A design like yours with a few simple adjustements would really make my blog shine.
    Please let me know where you got your theme.

    Bless you

  4. Hey there, You’ve done an incredible job. I’ll definitely digg it and personally suggest to
    my friends. I’m sure they’ll be benefited from this website.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *