James Prescott joule

James Prescott joule biography in hindi


जेम्स जूल की जीवनी

परिचय( introduction) 

महान वैज्ञानिक, भौतिक शास्त्री, गणितज्ञ, शराब व्यापारी, जेम्स जुल का जन्म लंदन में हुआ था, ऊर्जा की इकाई जो जुल  joule है , ये महान वैज्ञानिक जेम्स प्रेस्कॉट जुल के सम्मान में ही रखा गया है, जेम्स जुल ने ही विश्व प्रसिद्ध उष्मागतिकी के प्रथम नियम का प्रतिपादन किया था, जेम्स जुल ने ऊष्मा का संबंध यांत्रिक कार्य से बताया जिससे ऊर्जा के संरक्षण का सिद्धांत प्रकाश में आया,जेम्स ने विश्व प्रसिद्ध वैज्ञानिक केल्विन के साथ मिलाकर तापमान संबंधी केल्विन स्केल का भी विकास किया। जेम्स जूल समकालीन वैज्ञानिको में सर्वश्रेष्ठ थे। चालक के मध्य विद्युत धारा के प्रवाह का भी पता लगाया, जिसके फलस्वरूप जुल के प्रथम  नियम का प्रतिपादन हुआ

जीवन

प्रारंभिक जीवन (Early Life)

जेम्स जुल के पिता बेंजामिन इंग्लैंड के एक मशहूर शराब व्यापारी थे  , मद्य निर्माणकर्ता थे, इनकी मद्य निर्माण कारी व्यापार था, जेम्स जूल घर में ही शिक्षा दी गई महान वैज्ञानिक जॉन। डाल्टन द्वारा, जेम्स महान रसायनज्ञ विलियम हेनरी से काफी प्रभावित थे और प्रसिद्ध अभियंता (इंजीनियर) पीटर इवार्ट और ईटन से भी काफी हद तक प्रभावित थे, जेम्स का विद्युत उपकरणों से काफी लगाव था, वो और उनके भाई एक दूसरे को इलेक्ट्रिक शॉक दिया करते रहे, और घर के नौकरों को भी ताकी वो विद्युत धारा के प्रभाव को देख सके।16 साल के आयु में जेम्स अपने कारखाने में भी सक्रिय भूमिका निभाने लगे वो पढ़ाई के साथ साथ व्यापार में भी सक्रिय हो गए, जेम्स जब ब्रेवरी में कार्य कर रहे थे तभी उनके मन में एक ख्याल आया कि वो स्टीम इंजन को इलेक्ट्रिक मोटर से प्रतिस्थापित करना चाहते थे, जेम्स ने इस दिशा में अपने अध्यन तथा प्रयोग प्रारंभ कर दिए, 1841 में जेम्स ने जुल के नियम का प्रतिपादन किया, जिसमे जेम्स जुल ने बताया कि चालक के मध्य विद्युत धारा के प्रवाह से जो ऊष्मा उत्पन होती है। अलग अलग शोधों और अध्यन का सिलसिला जारी रहा ।

जीवन संघर्ष

जेम्स जुल के अथक परिश्रम और प्रयासों के कारण ही उष्मागतिकी के प्रथम नियम का प्रतिपादन हुआ, जेम्स जुल ने अनेकों शोधों किए, जेम्स जुल तत्कालीन समय के महान वैज्ञानिकों से काफी प्रभावित थे, जेम्स जुल ने महान वैज्ञानिक केल्विन के साथ भी कार्य किया केल्विन तथा जुल ने गैस के कई महत्वपूर्ण गुणों का अध्ययन किया, गैस के द्रवीकरण के महत्वपूर्ण सिद्धांत का अध्ययन किया जिसे जुल टामसन प्रभाव (1852) कहा गया, इस सिद्धांत का प्रयोग बाद में रेफ्रिजरेटर में किया गया जेम्स जुल ने केल्विन के साथ मिलकर तापमान का परम् पैमाना विकसित किया। चालक में विद्युत धारा के प्रवाह से उत्पन होनी वाली ऊष्मा की मात्रा का पता लगाया, जिसे जुल का नियम कहा जता है। जेम्स जुल ने magnetostriction पर भी बेहतरीन कार्य किया किसी फेरो मैग्नेटिक पदार्थ को किस चुंबकीय क्षेत्र में लाया जाता है तो उसके आकार में परिवर्तन होता है इसी प्रभाव को magnetostriction कहते है जुल को लॉयल सोसायटी ऑफ लंदन के द्वारा निर्वाचित किया गया था | 1850 में उनको रॉयल मेडल दिया गया 1852 में उनके पेपर ऊष्मा के यांत्रिक तुल्यांक के लिए में (on the Mechanical equivalent of heat) , 1870 में  सुप्रसिद्ध copley मेडल से सम्मानित किया गया।1847में जुल ने अमेलिया  ग्राइम्स से विवाह कर लिया उनको दो पुत्र थे तथा एक पुत्री, अमेलिया और जेम्स के दूसरे बेटे दोनो का 1854में निधन हो गया जेम्स तब से काफी दुखी रहने लगे।

योगदान/ उपलब्धियां

जेम्स प्रेस्कॉट जुल के कार्यों का विश्व पटल पर महत्वपूर्ण योगदान है, जेम्स जुल ने विज्ञान के क्षेत्र में प्रमुखता से कार्य किया मानव जीवन के विकास और विस्तार में महती भूमिका है, जेम्स जुल के कार्यों के कारण ही ऊर्जा के si मात्रक जुल joule रखा गया, जेम्स जुल ने हो उष्मागतिकी के प्रथम नियम का प्रतिपादन किया, उनके कार्यों ने तापमान के परम् पैमाना विकसित किया केल्विन महोदय के साथ मिलकर, जेम्स के कठिन परिश्रम और दृढ़ संकल्प के कारण ही आज कई सारे शोधों से विश्व समाज को अंत्यंत लाभ हुआ जेम्स के कार्यों, खोजों, अध्ययनों के कारण ऊर्जा संरक्षण संबंधी महत्वपूर्ण सिद्धांत का ज्ञान हो सका।

निष्कर्ष

जेम्स प्रेस्कॉट जुल के महान् खोजों के लिए संपूर्ण विश्व उनका ऋणी रहेगा, उनके द्वारा मानव जीवन के विकास में किए गए महान वैज्ञानिक कार्यों ने मानव के जीवन को सरल सुगम और सुचारू बनाया, अनेकों सिद्धांतो का प्रतिपादन हुआ, मानव के व्यवहार में उसके दिनप्रतिदिन के जीवन में अनेक सकारात्मक परिणाम देखने को मिला, जेम्स जुल के महान् वैज्ञानिक शोधों ने मानव जीवन पर अमिट छाप छोड़ी, विश्व कल्याण के लिए उनके योगदान के लिए संपूर्ण मानव जीवन उनका ऋणी है।।

धन्यवाद

हमारे द्वारा दिया गया विवरण आप को कैसा लगा हमे अवश्य अवगत कराया, आपके द्वारा दिया गया सुझाव हमारे लिए बहुमूल्य और सहृदय स्वीकार्य है

  • हमारा उद्देश्य” आपका अधिकतम सहयोग है”।

4,012 thoughts on “James Prescott joule

  1. I used to be suggested this website by my cousin. I’m no longer certain whether
    or not this submit is written through him as nobody else understand such targeted about my trouble.
    You’re wonderful! Thanks!

  2. Thanks for a marvelous posting! I definitely enjoyed reading it, you may be a great
    author.I will remember to bookmark your blog and will eventually come back down the road.
    I want to encourage yourself to continue your great writing, have a nice weekend!

  3. My family all the time say that I am wasting my time here at net, however I know I am
    getting knowledge every day by reading such
    fastidious posts.

  4. Hi, i read your blog from time to time and i own a similar one and
    i was just wondering if you get a lot oof spam remarks?
    If so how do you reduce it, any plugin or anything you can recommend?
    I gett sso much lately it’s driving me insane so any help is
    very much appreciated.

  5. Hi, I do think this is an excellent website. I stumbledupon it 😉 I am going to revisit once again since i have bookmarked it.
    Money and freedom is the best way to change, may you be
    rich and continue to help other people.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *